Monday, October 12, 2015

कोई भी काम करें उसे अपना कर्तव्य समझकर ही करें

बहुत समय पहले की बात है एक राजा था। उसे राजा बने लगभग दस साल हो चुके थे। पहले कुछ साल तो उसे राज्य संभालने में कोई परेशानी नहीं आई। फिर एक बार अकाल पड़ा। उस साल लगान न के बराबर आया। राजा को यही चिंता लगी रहती कि खर्चा कैसे घटाया जाए ताकि काम चल सके। उसके बाद यही आशंका रहने लगी कि कहीं इस बार भी अकाल न पड़ जाए। उसे पड़ोसी राजाओं का भी डर रहने लगा कि कहीं हमला न कर दें।

एक बार उसने कुछ मंत्रियों को उसके खिलाफ षडयंत्र रचते भी पकड़ा था। राजा को चिंता के कारण नींद नहीं आती। भूख भी कम लगती। शाही मेज पर सैकड़ों पकवान परोसे जाते, पर वह दो-तीन कौर से अधिक न खा पाता। राजा अपने शाही बाग के माली को देखता था। जो बड़े स्वाद से प्याज व चटनी के साथ सात-आठ मोटी-मोटी रोटियां खा जाता था।

रात को लेटते ही गहरी नींद सो जाता था। सुबह कई बार जगाने पर ही उठता। राजा को उससे जलन होती। एक दिन दरबार में राजा के गुरु आए। राजा ने अपनी सारी समस्या अपने गुरु के सामने रख दी। गुरु बोले वत्स यह सब राज-पाट की चिंता के कारण है इसे छोड़ दो या अपने बेटे को सौंप दो तुम्हारी नींद और भूख दोनों वापस आ जाएंगी।

राजा ने कहा नहीं गुरुदेव वह तो पांच साल का अबोध बालक है। इस पर गुरु ने कहा ठीक है फिर इस चिंता को मुझे सौंप दो। राजा को गुरु का सुझाव ठीक लगा। उसने उसी समय अपना राज्य गुरु को सौंप दिया। गुरु ने पूछा अब तुम क्या करोगे। राजा ने कहा कि मैं व्यापार करूंगा। गुरु ने कहा राजा अब यह राजकोष तो मेरा है। तुम व्यापार के लिए धन कहां से लाओगे। राजा ने सोचा और कहा तो मैं नौकरी कर लूंगा।

इस पर गुरु ने कहा यदि तुमको नौकरी ही करनी है तो मेरे यहां नौकरी कर लो। मैं तो ठहरा साधूु मैंं आश्रम में ही रहूंगा, लेकिन इस राज्य को चलाने के लिए मुझे एक नौकर चाहिए। तुम पहले की तरह ही महल में रहोगे। गद्दी पर बैठोगे और शासन चलाओगे, यही तुम्हारी नौकरी होगी। राजा ने स्वीकार कर लिया और वह अपने काम को नौकरी की तरह करने लगा। फर्क कुछ नहीं था काम वही था, लेकिन अब वह जिम्मेदारियों और चिंता से लदा नहीं था।

कुछ महीनों बाद उसके गुरु आए। उन्होंने राजा से पूछा कहो तुम्हारी भूख और नींद का क्या हाल है। राजा ने कहा- मालिक अब खूब भूख लगती है और आराम से सोता हूं। गुरु ने समझाया देखें सब पहले जैसेा ही है, लेकिन पहले तुमने जिस काम को बोझ की गठरी समझ रखा था। अब सिर्फ उसे अपना कर्तव्य समझ कर रहे हो। हमें अपना जीवन कर्तव्य करने के लिए मिला है। किसी चीज को जागीर समझकर अपने ऊपर बोझ लादने के लिए नही।

सीख: 1. काम कोई भी हो चिंता उसे और ज्यादा कठिन बना देती है।
2. जो भी काम करें उसे अपना कर्तव्य समझकर ही करें। ये नहीं भूलना चाहिए कि हम न कुछ लेकर आए थे और न कुछ लेकर जाएंगे।

14 comments:

Jobsexpress Jobs said...

I just wanted to reach out and say “thanks” for mentioning YOUR BRAND in your excellent article.
GSEB supplementary results 2016
IBPS PO apply online 2016
SSC JE Paper-II Answer key 2016
APPSC Group I Mains Hall Ticket 2011
NEET Answer key 2016
Ishan Uday Scholarship 2016-17

Siddarth said...

Information is good in the article, Thanks for the post.

Latest Govt Jobs In India

Ram Leela said...

Sarkari Recruitment is one of the biggest Indian Job Site so here you will getSarkari naukari jobs 2017so

sai chandra mouli said...

Sarkari Recruitment is one of the biggest Indian Job Site so here you will getGovt Jobs in Telangana 2017so

XoXo said...

Sarkari Recruitment is one of the biggest Indian Job Site so here you will getKarnataka govt jobs Latestso

XoXo said...

Sarkari Recruitment is one of the biggest Indian Job Site so here you will getKarnataka govt jobs Latestso

hhyyy said...

certainly like what you’re stating and the way in which you say it.
10th Class Board Exam Result 2017
10th class exam results

Manasa Garugu said...

Thank you for the useful information. Check AP EAMCET Result 2017 So

Reshma said...

Thank you for the useful information. Check Sarkari Recruitment So

Manasa Garugu said...

Nice Article. Good to see this. HBSE 12th Results So

kingrani said...


AP Exam Results is the best manabadi Ap Intermediate 1st year results

Unknown said...

Jobs Chat is one of the biggest Indian Job Site so here you will getGovernment jobs in karnatakaso

Akhila Mouli said...

Great Website. Good to see this. Click HereSo

Thank you for the useful information. You might be interested in CBSE Inter 1st Year Result So

Thank you for the useful information. You might be interested in CBSE Inter 2nd Year Result So

Thank you for the useful information. You might be interested in AP Inter 1st Year Results So

Thank you for the useful information. You might be interested in ISE 12th Result So

kingrani said...

Latest Admit Cards 2017-2018
APPSC 2017-2018
Click here to get more Govt jobs in ap